Tamil Nadu Agriculture Minister R Doraikkannu Passed Away On 31st October At Kauvery Hospital, Chennai – कोरोना संक्रमित तमिलनाडु के कृषि मंत्री आर दोराइक्कन्नू का अस्पताल में निधन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

कोरोना से संक्रमित तमिलनाडु के कृषि मंत्री आर दोराइक्कन्नू का 31 अक्तूबर को रात 11:15 बजे कावेरी अस्पताल, चेन्नई में निधन हो गया। उन्हें गंभीर हालत में 13 अक्तूबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।  

 

 

कावेरी अस्पताल के कार्यकारी निदेशक डॉ.अरविंदन सेल्वराज ने स्वास्थ्य बुलेटिन में बताया था कि मंत्री को जीवनरक्षक प्रणाली पर रखने के बावजूद उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी। अस्पताल ने बताया कि मंत्री का सोमवार को कोविड-19 की वजह हुई गंभीर निमोनिया का इलाज शुरू किया गया था। 

फेफड़े का 90 प्रतिशत हिस्सा संक्रमित

अस्पताल ने बताया था कि सीटी स्कैन के मुताबिक उनके फेफड़े का 90 प्रतिशत हिस्सा संक्रमित था और उन्हें इसीएमओ (एक्सट्राकॉरपोरियल मेम्ब्रेन ऑक्सीजिनेशन) और वेंटिलेटर पर रखा गया था। कावेरी अस्पताल ने बताया कि दोराइक्कन्नू को कई दिन पहले सांस लेने में परेशानी होने की गंभीर शिकायत होने के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया था और जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी।

13 अक्तूबर को हुई थी परेशानी

मंत्री को 13 अक्तूबर को उस समय बेचैनी महसूस हुई जब वह मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी की मां दवुस्याम्मल के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने सेलम जा रहे थे। कार से यात्रा कर रहे दोराइक्कन्नू को तत्काल विल्लुपुरम के राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल ले जाया गया और उसी दिन कावेरी अस्पताल स्थानांतरित किया गया था। 

कोरोना से संक्रमित तमिलनाडु के कृषि मंत्री आर दोराइक्कन्नू का 31 अक्तूबर को रात 11:15 बजे कावेरी अस्पताल, चेन्नई में निधन हो गया। उन्हें गंभीर हालत में 13 अक्तूबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।  

 

 

कावेरी अस्पताल के कार्यकारी निदेशक डॉ.अरविंदन सेल्वराज ने स्वास्थ्य बुलेटिन में बताया था कि मंत्री को जीवनरक्षक प्रणाली पर रखने के बावजूद उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी। अस्पताल ने बताया कि मंत्री का सोमवार को कोविड-19 की वजह हुई गंभीर निमोनिया का इलाज शुरू किया गया था। 

फेफड़े का 90 प्रतिशत हिस्सा संक्रमित
अस्पताल ने बताया था कि सीटी स्कैन के मुताबिक उनके फेफड़े का 90 प्रतिशत हिस्सा संक्रमित था और उन्हें इसीएमओ (एक्सट्राकॉरपोरियल मेम्ब्रेन ऑक्सीजिनेशन) और वेंटिलेटर पर रखा गया था। कावेरी अस्पताल ने बताया कि दोराइक्कन्नू को कई दिन पहले सांस लेने में परेशानी होने की गंभीर शिकायत होने के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया था और जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी।

13 अक्तूबर को हुई थी परेशानी

मंत्री को 13 अक्तूबर को उस समय बेचैनी महसूस हुई जब वह मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी की मां दवुस्याम्मल के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने सेलम जा रहे थे। कार से यात्रा कर रहे दोराइक्कन्नू को तत्काल विल्लुपुरम के राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल ले जाया गया और उसी दिन कावेरी अस्पताल स्थानांतरित किया गया था। 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *