Punjab Cabinet News : Many Important Decisions Taken By Punjab Cabinet – पंजाब कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले, नई दिव्यांगजन शक्ति योजना को भी मंजूरी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़
Updated Wed, 18 Nov 2020 05:04 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। कैबिनेट ने एक नई योजना पंजाब दिव्यांगजन शक्ति योजना को मंजूरी दी है। यह योजना चरणबद्ध तरीके से पूरे राज्य में लागू की जाएगी। 

इसके अलावा लद्दाख की गलवां घाटी में शहीद हुए तीन अविवाहित जवानों सिपाही गुरतेज सिंह (23), गुरबिंदर सिंह (22) और लांस नायक सलीम खान (23) के विवाहित भाई-बहनों को नौकरी देने के लिए नियमों में संशोधन करने को भी मंजूरी दी गई है। वहीं कोविड 19 के कारण पंजाब स्टेट काउंसिल फॉर एग्रीकल्चरल एजुकेशन एक्ट, 2017 को लागू करने का फैसला 30 जून, 2021 तक टाल दिया गया है। 

पटियाला और अमृतसर में सरकारी मेडिकल कॉलेजों में महत्वपूर्ण पदों को मंजूरी दी गई है। कैबिनेट ने इन दो जीएमसी में अनुबंध के आधार पर सुपर-स्पेशलिस्ट प्रोफेसर और एसोसिएट प्रोफेसर के सहायक कोटे के 25 रिक्त पदों के अस्थायी रूपांतरण को भी मंजूरी दी। आईटी, ई-कॉमर्स, ई-गवर्नेंस को बढ़ावा देने के लिए दूरसंचार बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने के लिए कैबिनेट ने नई एकल-खिड़की नीति को भी मंजूर किया है।

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। कैबिनेट ने एक नई योजना पंजाब दिव्यांगजन शक्ति योजना को मंजूरी दी है। यह योजना चरणबद्ध तरीके से पूरे राज्य में लागू की जाएगी। 

इसके अलावा लद्दाख की गलवां घाटी में शहीद हुए तीन अविवाहित जवानों सिपाही गुरतेज सिंह (23), गुरबिंदर सिंह (22) और लांस नायक सलीम खान (23) के विवाहित भाई-बहनों को नौकरी देने के लिए नियमों में संशोधन करने को भी मंजूरी दी गई है। वहीं कोविड 19 के कारण पंजाब स्टेट काउंसिल फॉर एग्रीकल्चरल एजुकेशन एक्ट, 2017 को लागू करने का फैसला 30 जून, 2021 तक टाल दिया गया है। 

पटियाला और अमृतसर में सरकारी मेडिकल कॉलेजों में महत्वपूर्ण पदों को मंजूरी दी गई है। कैबिनेट ने इन दो जीएमसी में अनुबंध के आधार पर सुपर-स्पेशलिस्ट प्रोफेसर और एसोसिएट प्रोफेसर के सहायक कोटे के 25 रिक्त पदों के अस्थायी रूपांतरण को भी मंजूरी दी। आईटी, ई-कॉमर्स, ई-गवर्नेंस को बढ़ावा देने के लिए दूरसंचार बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने के लिए कैबिनेट ने नई एकल-खिड़की नीति को भी मंजूर किया है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *