Order To Issue Arrest Warrant Against Nine, Including Rita Bahuguna, Rajbabbar – रीता बहुगुणा, राज बब्बर समेत नौ के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने का आदेश

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ
Updated Thu, 19 Nov 2020 08:26 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

धरना-प्रदर्शन के दौरान तोड़फोड़ व पुलिस बल पर हमला करने के मामले में सुनवाई के दौरान गैरहाजिर चल रहीं सांसद रीता बहुगुणा जोशी, प्रदीप जैन आदित्य, राज बब्बर समेत 9 आरोपियों के खिलाफ एमपी एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार राय ने गिरफ्तारी  वारंट जारी करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने इसके साथ ही आरोपियों के जामिनदारों को नोटिस भी जारी करने का आदेश दिया है। मामले की अगली सुनवाई 8 दिसम्बर को होगी।

कोर्ट ने मामले के आरोपियों के खिलाफ जारी वारंट की तामिला न करने पर हजरतगंज थाना प्रभारी को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए कहा कि वह कोर्ट में हाज़िर होकर बताए कि इतने पुराने मामले में उनके द्वारा कोर्ट के आदेशों का पालन क्यों नही किया जा रहा है अन्यथा उनके खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

गौरतलब है कि  17 अगस्त 2015 को दरोगा प्यारेलाल प्रजापति ने थाना हजरतगंज में रिपोर्ट दज कराई थी। रिपोर्ट में कहा गया की कांग्रेस पार्टी का लक्ष्मण मेला स्थल पर धरना प्रदर्शन था। करीब पांच हजार कार्यकर्ताओं के साथ अचानक यह सभी अभियुक्तगण धरना स्थल से विधान सभा का घेराव करने निकल पड़े। इन्हें समझाने व रोकने का प्रयास किया गया, लेकिन नहीं माने। भीड़ संकल्प वाटिका के पास पथराव करने लगी, जिससे भगदड़ मच गई। इसमें कई अधिकारी व पीएसी के कई जवान गंभीर घायल हो गए। इसके अलावा कई अन्य लोग घायल हो गए और कई गाड़ियों के शीशे टूट गए।

धरना-प्रदर्शन के दौरान तोड़फोड़ व पुलिस बल पर हमला करने के मामले में सुनवाई के दौरान गैरहाजिर चल रहीं सांसद रीता बहुगुणा जोशी, प्रदीप जैन आदित्य, राज बब्बर समेत 9 आरोपियों के खिलाफ एमपी एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार राय ने गिरफ्तारी  वारंट जारी करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने इसके साथ ही आरोपियों के जामिनदारों को नोटिस भी जारी करने का आदेश दिया है। मामले की अगली सुनवाई 8 दिसम्बर को होगी।

कोर्ट ने मामले के आरोपियों के खिलाफ जारी वारंट की तामिला न करने पर हजरतगंज थाना प्रभारी को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए कहा कि वह कोर्ट में हाज़िर होकर बताए कि इतने पुराने मामले में उनके द्वारा कोर्ट के आदेशों का पालन क्यों नही किया जा रहा है अन्यथा उनके खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

गौरतलब है कि  17 अगस्त 2015 को दरोगा प्यारेलाल प्रजापति ने थाना हजरतगंज में रिपोर्ट दज कराई थी। रिपोर्ट में कहा गया की कांग्रेस पार्टी का लक्ष्मण मेला स्थल पर धरना प्रदर्शन था। करीब पांच हजार कार्यकर्ताओं के साथ अचानक यह सभी अभियुक्तगण धरना स्थल से विधान सभा का घेराव करने निकल पड़े। इन्हें समझाने व रोकने का प्रयास किया गया, लेकिन नहीं माने। भीड़ संकल्प वाटिका के पास पथराव करने लगी, जिससे भगदड़ मच गई। इसमें कई अधिकारी व पीएसी के कई जवान गंभीर घायल हो गए। इसके अलावा कई अन्य लोग घायल हो गए और कई गाड़ियों के शीशे टूट गए।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *