Man Arrested For Provoking A Woman For Self Immolation Near Vidhan Sabha. – लखनऊ: महिला को आत्मदाह के लिए उकसाने के आरोप में कांग्रेस नेता के पुत्र को हिरासत में लिया, पूछताछ जारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ

Updated Wed, 14 Oct 2020 12:58 PM IST

महिला ने विधान भवन के सामने आत्मदाह किया था (फाइल फोटो)
– फोटो : amar ujala





पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

यूपी के विधान भवन के सामने एक महिला को आत्मदाह के लिए उकसाने के आरोप में पुलिस ने आलोक नामक युवक को हिरासत में लिया है। युवक कांग्रेस नेता का पुत्र बताया जा रहा है। आलोक कांग्रेस नेता व पूर्व राज्यपाल सुखदेव प्रसाद का बेटा है।

हजरतगंज पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार, महिला द्वारा आत्मदाह करने के दौरान युवक की लोकेशन भी विधानभवन के आसपास ही मिली है।

लखनऊ पुलिस ने युवक को महाराजगंज पुलिस के इनपुट पर हिरासत में लिया है। वहां से पुलिस की एक टीम लखनऊ के लिए निकल चुकी है।

ये था पूरा मामला

महराजगंज की एक महिला ने लखनऊ में विधान भवन के सामने मंगलवार दोपहर पेट्रोल उड़ेलकर आत्मदाह की कोशिश की। आसपास मौजूद पुलिसकर्मियों ने आननफानन आग बुझाकर अंजली तिवारी उर्फ आयशा को सिविल अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सकों के मुताबिक महिला का शरीर 90 प्रतिशत जल चुका है। उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय समेत अन्य अफसरों ने अस्पताल पहुंचकर घटनाक्रम के बारे में जानकारी ली। पुलिस सूत्रों का कहना है कि अंजली की पहली शादी 2014 में महराजगंज के अखिलेश तिवारी से हुई थी। करीब चार साल तक दोनों साथ रहे, फिर मनमुटाव होने पर अलग हो गए। इसके बाद वह आसिफ के संपर्क में आई। उसने धर्म बदलकर आयशा नाम रख लिया और आसिफ से निकाह कर लिया। आसिफ के साथ वह दो-तीन साल रही।

आसिफ काम के सिलसिले में सऊदी अरब चला गया। वह आसिफ के घरवालों के साथ रहना चाहती थी, लेकिन उन्होंने साथ रखने से इनकार कर दिया। इससे क्षुब्ध महिला ने पुलिस से शिकायत की, पर उसे कोई मदद नहीं मिली। इसके बाद वह मुख्यमंत्री से मिलने लखनऊ आई। यहां भी मुलाकात न हो पाने पर उसे कोई रास्ता नहीं दिखा तो आत्मदाह की कोशिश की।

यूपी के विधान भवन के सामने एक महिला को आत्मदाह के लिए उकसाने के आरोप में पुलिस ने आलोक नामक युवक को हिरासत में लिया है। युवक कांग्रेस नेता का पुत्र बताया जा रहा है। आलोक कांग्रेस नेता व पूर्व राज्यपाल सुखदेव प्रसाद का बेटा है।

हजरतगंज पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार, महिला द्वारा आत्मदाह करने के दौरान युवक की लोकेशन भी विधानभवन के आसपास ही मिली है।

लखनऊ पुलिस ने युवक को महाराजगंज पुलिस के इनपुट पर हिरासत में लिया है। वहां से पुलिस की एक टीम लखनऊ के लिए निकल चुकी है।

ये था पूरा मामला
महराजगंज की एक महिला ने लखनऊ में विधान भवन के सामने मंगलवार दोपहर पेट्रोल उड़ेलकर आत्मदाह की कोशिश की। आसपास मौजूद पुलिसकर्मियों ने आननफानन आग बुझाकर अंजली तिवारी उर्फ आयशा को सिविल अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सकों के मुताबिक महिला का शरीर 90 प्रतिशत जल चुका है। उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय समेत अन्य अफसरों ने अस्पताल पहुंचकर घटनाक्रम के बारे में जानकारी ली। पुलिस सूत्रों का कहना है कि अंजली की पहली शादी 2014 में महराजगंज के अखिलेश तिवारी से हुई थी। करीब चार साल तक दोनों साथ रहे, फिर मनमुटाव होने पर अलग हो गए। इसके बाद वह आसिफ के संपर्क में आई। उसने धर्म बदलकर आयशा नाम रख लिया और आसिफ से निकाह कर लिया। आसिफ के साथ वह दो-तीन साल रही।

आसिफ काम के सिलसिले में सऊदी अरब चला गया। वह आसिफ के घरवालों के साथ रहना चाहती थी, लेकिन उन्होंने साथ रखने से इनकार कर दिया। इससे क्षुब्ध महिला ने पुलिस से शिकायत की, पर उसे कोई मदद नहीं मिली। इसके बाद वह मुख्यमंत्री से मिलने लखनऊ आई। यहां भी मुलाकात न हो पाने पर उसे कोई रास्ता नहीं दिखा तो आत्मदाह की कोशिश की।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *