Iqbal And Farrukh Of Bangladesh Was To Work In Bsp Mp’s Factory At Saharanpur – चौंकाने वाला खुलासा, बसपा सांसद की मीट फैक्टरी में काम करते थे बांग्लादेशी नागरिक, इकबाल की बोली…

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, सहारनपुर
Updated Thu, 19 Nov 2020 02:40 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) ने जिन दो बांग्लादेशी नागरिकों इकबाल और फारुख को गिरफ्तार किया है, वह अपने परिवार सहित गांव सिंभालकी जुनारदार में रह रहे थे।

इकबाल की पत्नी रूबी का कहना है कि दोनों भाई बसपा सांसद की मीट फैक्टरी में मजदूरी कर रहे थे। बसपा सांसद की ओर से कहा गया है कि इन नामों के व्यक्ति उनकी फैक्टरी में काम नहीं करते हैं।

एटीएस ने गिरफ्तारी के बाद बांग्लादेशी नागरिक इकबाल और फारुख का स्थानीय पता कमेला कॉलोनी में बिलाल मस्जिद के पास बताया था। उसी पते पर इनके आधार कार्ड और अन्य प्रमाणपत्र बने थे, जो बरामद हुए है। 

वहीं पड़ताल करने पर पता चला कि इकबाल और फारुख कई साल से जनता रोड स्थित गांव सिंभालकी जुनारदार में रह रहे थे। वहां इकबाल की पत्नी रूबी बच्चों सहित रह रही है।

यह भी पढ़ें: तस्वीरें: कार में बैठे सीए को ट्रैफिक पुलिस क्रेन से उठाकर ले गई, हवा में थी कार, 10 मिनट तक अटकी रहीं सांसें

अमर उजाला टीम ने सिंभालकी जुनारदार पहुंचकर रूबी से बात की तो, उसने बताया कि करीब 15 साल से सहारनपुर में किराए के मकान में रह रहे थे। पहले वे कमेला कॉलोनी में रहे, फिर यहां आ गए। यहां उनके पति इकबाल और देवर फारुख बसपा सांसद फजलुर्रहमान की मीट फैक्टरी में काम करते थे। उनके साथ परिवार में तीन बच्चे आठ साल का मिजानू रहमान, चार साल की रुखसार और दो साल का अरहान है। 

रूबी ने बताया कि पुलिस ने उसे थाने ले जाकर भी पूछताछ की थी। बसपा सांसद हाजी फजलुर्रहमान के पीआरओ सैयद हस्सान का कहना है कि इकबाल और फारुख नाम का कोई व्यक्ति सांसद की मीट फैक्टरी में काम नहीं करता है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/

आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) ने जिन दो बांग्लादेशी नागरिकों इकबाल और फारुख को गिरफ्तार किया है, वह अपने परिवार सहित गांव सिंभालकी जुनारदार में रह रहे थे।

इकबाल की पत्नी रूबी का कहना है कि दोनों भाई बसपा सांसद की मीट फैक्टरी में मजदूरी कर रहे थे। बसपा सांसद की ओर से कहा गया है कि इन नामों के व्यक्ति उनकी फैक्टरी में काम नहीं करते हैं।

एटीएस ने गिरफ्तारी के बाद बांग्लादेशी नागरिक इकबाल और फारुख का स्थानीय पता कमेला कॉलोनी में बिलाल मस्जिद के पास बताया था। उसी पते पर इनके आधार कार्ड और अन्य प्रमाणपत्र बने थे, जो बरामद हुए है। 

वहीं पड़ताल करने पर पता चला कि इकबाल और फारुख कई साल से जनता रोड स्थित गांव सिंभालकी जुनारदार में रह रहे थे। वहां इकबाल की पत्नी रूबी बच्चों सहित रह रही है।

यह भी पढ़ें: तस्वीरें: कार में बैठे सीए को ट्रैफिक पुलिस क्रेन से उठाकर ले गई, हवा में थी कार, 10 मिनट तक अटकी रहीं सांसें

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *