42 People Except One Person Tested Positive For Coronavirus In Thorang Village Of Lahul – इस गांव में एक व्यक्ति को छोड़कर 42 लोग कोरोना पॉजिटिव, पढ़ें पूरा मामला

अशोक राणा, अमर उजाला, केलांग (लाहौल-स्पीति)
Updated Thu, 19 Nov 2020 02:11 AM IST

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति के थोरंग गांव में एक व्यक्ति को छोड़कर सभी 42 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इस शख्स की पत्नी समेत परिवार के छह लोग भी संक्रमित हैं। भूषण ठाकुर (52) ही गांव में अकेले ऐसे शख्स हैं, जिन्हें कोरोना छू भी नहीं पाया। भूषण ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए वह पूरे नियमों का पालन करते हैं।

 सीएमओ लाहौल-स्पीति डॉ. पलजोर ने कहा कि शायद भूषण का इम्युनिटी सिस्टम बेहद मजबूत है। गांव के सभी लोगों के पॉजिटिव आने के बावजूद भूषण का निगेटिव आना हैरान करने वाला है। गांव के पांच लोग पहले पॉजिटिव आए थे, इसके बाद बाकी लोगों ने बैठक कर स्वेच्छा से चार दिन पहले टेस्ट करवाने का फैसला लियाथा।

हालांकि इस गांव में करीब 100 लोग रहते हैं, लेकिन बर्फबारी के चलते इन दिनों कई लोग कुल्लू चले गए हैं। भूषण ने कहा कि जबसे परिवार के सदस्य पॉजिटिव आए हैं, तब से वह अलग कमरे में रह रहे हैं। खाना खुद बना रहे हैं। परिजनों के साथ उन्होंने भी 4 दिन पहले सैंपल दिया था। रिपोर्ट में परिवार के अन्य लोग पॉजिटिव निकले।

उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई। सैंपल देने तक वह पूरे परिवार के साथ थे। इस रिपोर्ट से वह खुद भी हैरान हैं। भूषण ने कहा कि कोरोना को हल्के में न लें। वह शुरू से ही नियमित मास्क पहनने के साथ हाथ सैनिटाइज करना नहीं भूलते। डिस्टेंसिंग का खयाल रखते हैं। 

जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति के थोरंग गांव में एक व्यक्ति को छोड़कर सभी 42 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इस शख्स की पत्नी समेत परिवार के छह लोग भी संक्रमित हैं। भूषण ठाकुर (52) ही गांव में अकेले ऐसे शख्स हैं, जिन्हें कोरोना छू भी नहीं पाया। भूषण ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए वह पूरे नियमों का पालन करते हैं।

 सीएमओ लाहौल-स्पीति डॉ. पलजोर ने कहा कि शायद भूषण का इम्युनिटी सिस्टम बेहद मजबूत है। गांव के सभी लोगों के पॉजिटिव आने के बावजूद भूषण का निगेटिव आना हैरान करने वाला है। गांव के पांच लोग पहले पॉजिटिव आए थे, इसके बाद बाकी लोगों ने बैठक कर स्वेच्छा से चार दिन पहले टेस्ट करवाने का फैसला लियाथा।

हालांकि इस गांव में करीब 100 लोग रहते हैं, लेकिन बर्फबारी के चलते इन दिनों कई लोग कुल्लू चले गए हैं। भूषण ने कहा कि जबसे परिवार के सदस्य पॉजिटिव आए हैं, तब से वह अलग कमरे में रह रहे हैं। खाना खुद बना रहे हैं। परिजनों के साथ उन्होंने भी 4 दिन पहले सैंपल दिया था। रिपोर्ट में परिवार के अन्य लोग पॉजिटिव निकले।

उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई। सैंपल देने तक वह पूरे परिवार के साथ थे। इस रिपोर्ट से वह खुद भी हैरान हैं। भूषण ने कहा कि कोरोना को हल्के में न लें। वह शुरू से ही नियमित मास्क पहनने के साथ हाथ सैनिटाइज करना नहीं भूलते। डिस्टेंसिंग का खयाल रखते हैं। 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *