Donald Trump| Donald Trump lost in Pennsylvania lawsuit dismissed by federal judge. | पेन्सिलवेनिया में मेल इन बैलट्स रद्द नहीं किए जाएंगे, जॉर्जिया में एक और री-काउंट नहीं होगा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वॉशिंगटन14 घंटे पहले

शुक्रवार को पेन्सिलवेनिया के ली काउंटी में बैलट्स की जांच करते अधिकारी। इस टीम की जांच रिपोर्ट कोर्ट को सौंपी गई। जांच रिपोर्ट पर गौर करने के बाद कोर्ट ने सभी मेल इन बैलट्स को वैध करार दिया।

डोनाल्ड ट्रम्प की चुनावी हार पर अब अमेरिकी अदालतें भी मुहर लगाने लगी हैं। पेन्सिलवेनिया और जॉर्जिया की अदालतों के फैसलों ने साफ कर दिया है कि ट्रम्प खेमे की तरफ से लगाए जा रहे चुनावी धांधली के आरोपों में दम नहीं है। पेन्सिलवेनिया की एक अदालत ने साफ कर दिया कि मेल इन बैलट्स रद्द नहीं किए जाएंगे। जॉर्जिया में कोर्ट ने उस अपील को ठुकरा दिया जिसमें दूसरी बार री-काउंट की अपील की गई थी।

पेन्सिलवेनिया की अदालत ने कहा- ट्रम्प कैम्पेन ने सिर्फ आरोप लगाए हैं। इनके समर्थन में कोई ठोस सबूत नहीं दिए। लिहाजा, उनकी अपील पर विचार करने का कोई आधार नहीं है। चुनाव प्रक्रिया सही है।

पहले फैसलों पर नजर
पेन्सिलवेनिया में मेल इन बैलट्स को रद्द करने की मांग पर फेडरल कोर्ट के जज मैथ्यू ब्रान ने कहा- यह अदालत संविधानिक नियमों को नहीं तोड़ सकती। हम हजारों बैलट्स को कैसे रद्द कर सकते हैं। डेमोक्रेट पार्टी के कैंडिडेट और प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन को इस राज्य में 81 हजार वोटों से जीत मिली है। ट्रम्प का खेमा आरोप लगा रहा है कि मेल इन बैलट्स में धांधली हुई है।

जॉर्जिया में एक बार री-काउंट हो चुका है। इसके नतीजों से साफ हो गया कि इस राज्य में बाइडेन को ही जीत मिली और वोट काउंटिंग बिल्कुल सही तरीके से हुई थी। ट्रम्प कैम्पेन फिर रि-काउंट की मांग कर रहा है। कोर्ट और चुनाव आयोग इसे खारिज कर चुके हैं।

बहुत आगे निकल गए हैं बाइडेन
सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रम्प और उनका खेमा कानूनी पैंतरों के जरिए अब सिर्फ खीज निकाल रहे हैं। क्योंकि, इसमें अब कोई शक नहीं रह गया है कि ट्रम्प चुनाव हार चुके हैं और बाइडेन 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, बाइडेन को ट्रम्प से 6 लाख पॉपुलर वोट्स ज्यादा मिले हैं।

ट्रम्प को दोस्त भी दुश्मन नजर आने लगे
ट्रम्प अब क्या चाहते हैं? शायद ये बात अब किसी को पता नहीं है। रविवार को पेन्सिलवेनिया से सीनेटर पैट टूमी ने कहा- राष्ट्रपति अपने सभी कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल कर चुके हैं। अब बिल्कुल साफ हो चुका है कि वे चुनाव हार चुके हैं। 2020 का चुनाव जो बाइडेन के नाम है और मैं उन्हें दिल से जीत की बधाई देता हूं। ट्रम्प के लिए भी यही सही होगा कि वे मर्यादा का सम्मान करें। हार मानें क्योंकि यह जनता का फैसला है। देश हित में यह जरूरी है।

जवाब में ट्रम्प भड़के नजर आए। बजाए सलाह मानने के, वे टूमी पर ही नाराजगी जताने लगे। कहा- टूमी अब मेरे दोस्त नहीं रहे। उनकी भाषा बहुत कुछ साफ कर रही है। हम इस फैसले के खिलाफ अपील करेंगे।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5