Jharkhand Education Minister Jagarnath Mahto Corona Positive Admit In Icu – झारखंड : कोरोना संक्रमित शिक्षा मंत्री की हालत बिगड़ी, चेन्नई से विशेषज्ञ बुलाए गए

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रांची

Updated Sun, 18 Oct 2020 11:23 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस से संक्रमित झारखंड के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो की हालत गंभीर हो गई है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर चेन्नई से उनके इलाज के लिए विशेषज्ञ चिकित्सक बुलाए गए हैं।
मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार, स्वयं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अस्पताल जाकर इलाजरत शिक्षा मंत्री महतो के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी चिकित्सकों से ली। मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों को उनकी अच्छी देखाभाल और इलाज करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा, ”फिलहाल महतो की स्थिति ऐसी नहीं है कि उन्हें राज्य से बाहर ले जाया जा सके। हालांकि, इस को लेकर प्रयास हो रहा है। चेन्नई के विशेषज्ञ टीम से बात हुई हैं, उन्हें सोमवार को यहां आना था, लेकिन उनसे तत्काल आने का अनुरोध किया गया है।”
 

मेदांता के डॉक्टरों से वीडियो कांफ्रेंसिंग पर मीटिंग हुई :

गुरुग्राम के मेदांता के वरिष्ठ चिकित्सकों ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए महतो का इलाज कर रहे डॉक्टरों के साथ मीटिंग की। शिक्षामंत्री का इलाज कर रहे चिकित्सकों ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण जगन्नाथ महतो का फेफड़ा संक्रमित हो गया है और उसे ट्रांसप्लांट करने की तैयारी की जा रही है।

शिक्षा मंत्री को हाई फ्लो ऑक्सीजन भी देना पड़ा 

रिम्स के डॉक्टरों के मुताबिक, स्थिति को देखते हुए शिक्षा मंत्री को हाई फ्लो ऑक्सीजन भी देनी पड़ी। उन्हें वेटिंलेशन पर रखा जा सकता है। इससे पहले, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने रांची स्थित शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो के आवास पर जाकर उनके परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान भाजपा नेताओं ने शिक्षा मंत्री का हालचाल जाना।दोनों नेताओं ने शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

बता दें कि शिक्षा मंत्री के 28 सितंबर को संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। उन्हें रिम्स के कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया था। लेकिन सांस लेने में तकलीफ के बाद उन्हें उनके निर्देश पर बेहतर इलाज के लिए एक अक्तूबर को रांची के ही एक निजी अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया था। पिछले 20 दिनों से वे अस्पताल में भर्ती है।

कोरोना वायरस से संक्रमित झारखंड के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो की हालत गंभीर हो गई है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर चेन्नई से उनके इलाज के लिए विशेषज्ञ चिकित्सक बुलाए गए हैं।

मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार, स्वयं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अस्पताल जाकर इलाजरत शिक्षा मंत्री महतो के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी चिकित्सकों से ली। मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों को उनकी अच्छी देखाभाल और इलाज करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा, ”फिलहाल महतो की स्थिति ऐसी नहीं है कि उन्हें राज्य से बाहर ले जाया जा सके। हालांकि, इस को लेकर प्रयास हो रहा है। चेन्नई के विशेषज्ञ टीम से बात हुई हैं, उन्हें सोमवार को यहां आना था, लेकिन उनसे तत्काल आने का अनुरोध किया गया है।”

 

मेदांता के डॉक्टरों से वीडियो कांफ्रेंसिंग पर मीटिंग हुई :
गुरुग्राम के मेदांता के वरिष्ठ चिकित्सकों ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए महतो का इलाज कर रहे डॉक्टरों के साथ मीटिंग की। शिक्षामंत्री का इलाज कर रहे चिकित्सकों ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण जगन्नाथ महतो का फेफड़ा संक्रमित हो गया है और उसे ट्रांसप्लांट करने की तैयारी की जा रही है।

शिक्षा मंत्री को हाई फ्लो ऑक्सीजन भी देना पड़ा 

रिम्स के डॉक्टरों के मुताबिक, स्थिति को देखते हुए शिक्षा मंत्री को हाई फ्लो ऑक्सीजन भी देनी पड़ी। उन्हें वेटिंलेशन पर रखा जा सकता है। इससे पहले, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने रांची स्थित शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो के आवास पर जाकर उनके परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान भाजपा नेताओं ने शिक्षा मंत्री का हालचाल जाना।दोनों नेताओं ने शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

बता दें कि शिक्षा मंत्री के 28 सितंबर को संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। उन्हें रिम्स के कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया था। लेकिन सांस लेने में तकलीफ के बाद उन्हें उनके निर्देश पर बेहतर इलाज के लिए एक अक्तूबर को रांची के ही एक निजी अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया था। पिछले 20 दिनों से वे अस्पताल में भर्ती है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *