Indian Super League Football Will Start Today – इंडियन सुपर लीग फुटबॉल के साथ देश में आठ माह बाद आज से होगी खेलों की बहाली

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, बेंबोलिम (गोवा)
Updated Fri, 20 Nov 2020 06:45 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

देश में कोरोना के चलते पिछले आठ माह से बंद पड़ी खेल गतिविधियां शुक्रवार को इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) फुटबॉल के साथ बहाल हो जाएंगी। यह लॉकडाउन लागू होने के बाद देश में आयोजित होने वाला पहला बड़ा टूर्नामेंट होगा। बंद दरवाजों के बीच बिना दर्शकों के खेले जाने वाले टूर्नामेंट का उद्घाटन मुकाबला पूर्व चैंपियन एटीके मोहन बागान और केरल ब्लास्टर्स के बीच मुकाबले से होगा।

इस मुकाबले के काफी रोमांचक होने की उम्मीद है। एटीके मोहन बागान इस फ्रेंचाइजी आधारित टूर्नामेंट की शुरुआत खिताब के प्रबल दावेदार के रूप में करेगा। टीम ने भारत के स्टार डिफेंडर संदेश झिंगन (कप्तान) जैसे कुछ स्तरीय खिलाड़ियों से अनुबंध किया है। पिछले साल की चैंपियन टीम एटीके के अहम खिलाड़ियों को भी बरकरार रखा है जिसमें फिजी के रॉय कृष्णा भी शामिल हैं।

रॉय ने दागे थे 15 गोल 
रॉय 21 मैचों में 15 गोल के साथ पिछले सत्र के संयुक्त शीर्ष गोल स्कोरर थे। उन्होंने छह गोल करने में टीम भी मदद की थी। रॉय ने फाइनल में कप्तान की भूमिका निभाई थी और एटीके की टीम तीसरा आईएसएल खिताब जीतने में सफल रही थी। कोच एंटोनियो हबास ने रॉय के अलावा स्पेन के मिडफील्डर एडू गार्सिया, भारत के प्रीतम कोटल, अरिंदम भट्टाचार्य और झिंगन को कप्तान के रूप में चुना है। 

27 को होगा सत्र का पहला बड़ा मुकाबला 
सत्र का पहला सबसे बड़ा मैच 27 नवंबर को एटीके मोहन बागान और एससी ईस्ट बंगाल के बीच फटोर्डा में खेला जाएगा। इसमें दो पारंपरिक प्रतिद्वंद्वी टीमें अपनी 100 साल से अधिक पुरानी प्रतिद्वंद्विता को नए अवतार में शुरू करेंगी। पिछले साल के आईएसएल विजेता एटीके और आईलीग टीम मोहन बागान के विलय के बाद बने क्लब एटीके मोहन बागान और बंगाल का यह पहला मुकाबला होगा।  

गोवा को खलेगी फेरान व बोमस की कमी 
पिछले सत्र का लीग चरण जीतकर एएफसी चैंपियंस लीग के लिए क्वालिफाई करने वाली पहली भारतीय टीम बने एफसी गोवा को अपने स्टार फॉरवर्ड फेरान कोरोमिनास और ह्यूगो बोमस के जाने से नुकसान हुआ है। ये दोनों पिछले कुछ वर्षों में आईएसएल में सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ियों की सूची में शामिल रहे हैं। 

छेत्री और संधू की बंगलूरू भी दावेदार 
शीर्ष भारतीय और जांच परखे विदेशी खिलाड़ियों की मौजूदगी में कालर्स कुआड्रेट के मार्गदर्शन में खेलने वाली पूर्व चैंपियन बंगलूरू एफसी की टीम भी खिताब के दावेदारों में शामिल है। कुआड्रेट 2018-19 में खिताब जीतने वाली टीम के कई खिलाड़ियों को टीम से जोड़े रखने में सफल रहे हैं। टीम में दो बार के गोल्डन ग्लव विजेता गुरप्रीत सिंह संधू और आईएसएल के शीर्ष भारतीय स्कोरर सुनील छेत्री के अलावा डिफेंडर युआनन और मिडफील्डर एरिक पार्तालु और दिमास डेलगाड जैसे खिलाड़ी शामिल हैं।

मुंबई भी कम नहीं 
मुंबई सिटी एफसी की निगाह भी कम से कम प्लेऑफ में जगह बनाने पर होगी। टीम को मुख्य कोच सर्जियो लोबेरा की मौजूदगी का फायदा मिलेगा जो एफसी गोवा को छोड़कर टीम से जुड़े हैं। लोबेरा की अगुवाई में गोवा ने 2018-19 सत्र के फाइनल में जगह बनाई थी। लिवरपूल के दिग्गज रॉबी फाउलर के मार्गदर्शन में खेलने जा रही नई टीम स्पोर्टिंग क्लब ईस्ट बंगाल और दो बार के चैंपियन चेन्नईयन एफसी से भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है। 

 

सार

  • गत चैंपियन एटीके मोहन बागान और केरल ब्लास्टर्स के बीच खेला जाएगा उद्घाटन मुकाबला
  • बिना दर्शकों के सिर्फ एक ही शहर गोवा के तीन स्टेडियमों जीएमसी स्टेडियम बेंबोलिम
  • नवंबर से मार्च तक चलने वाला टूर्नामेंट, खेला जाएगा दो चरणों में
  • पहली बार टूर्नामेंट में खेलेगी स्पोर्टिंग क्लब ईस्ट बंगाल की टीमें

विस्तार

देश में कोरोना के चलते पिछले आठ माह से बंद पड़ी खेल गतिविधियां शुक्रवार को इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) फुटबॉल के साथ बहाल हो जाएंगी। यह लॉकडाउन लागू होने के बाद देश में आयोजित होने वाला पहला बड़ा टूर्नामेंट होगा। बंद दरवाजों के बीच बिना दर्शकों के खेले जाने वाले टूर्नामेंट का उद्घाटन मुकाबला पूर्व चैंपियन एटीके मोहन बागान और केरल ब्लास्टर्स के बीच मुकाबले से होगा।

इस मुकाबले के काफी रोमांचक होने की उम्मीद है। एटीके मोहन बागान इस फ्रेंचाइजी आधारित टूर्नामेंट की शुरुआत खिताब के प्रबल दावेदार के रूप में करेगा। टीम ने भारत के स्टार डिफेंडर संदेश झिंगन (कप्तान) जैसे कुछ स्तरीय खिलाड़ियों से अनुबंध किया है। पिछले साल की चैंपियन टीम एटीके के अहम खिलाड़ियों को भी बरकरार रखा है जिसमें फिजी के रॉय कृष्णा भी शामिल हैं।

रॉय ने दागे थे 15 गोल 
रॉय 21 मैचों में 15 गोल के साथ पिछले सत्र के संयुक्त शीर्ष गोल स्कोरर थे। उन्होंने छह गोल करने में टीम भी मदद की थी। रॉय ने फाइनल में कप्तान की भूमिका निभाई थी और एटीके की टीम तीसरा आईएसएल खिताब जीतने में सफल रही थी। कोच एंटोनियो हबास ने रॉय के अलावा स्पेन के मिडफील्डर एडू गार्सिया, भारत के प्रीतम कोटल, अरिंदम भट्टाचार्य और झिंगन को कप्तान के रूप में चुना है। 

27 को होगा सत्र का पहला बड़ा मुकाबला 
सत्र का पहला सबसे बड़ा मैच 27 नवंबर को एटीके मोहन बागान और एससी ईस्ट बंगाल के बीच फटोर्डा में खेला जाएगा। इसमें दो पारंपरिक प्रतिद्वंद्वी टीमें अपनी 100 साल से अधिक पुरानी प्रतिद्वंद्विता को नए अवतार में शुरू करेंगी। पिछले साल के आईएसएल विजेता एटीके और आईलीग टीम मोहन बागान के विलय के बाद बने क्लब एटीके मोहन बागान और बंगाल का यह पहला मुकाबला होगा।  

गोवा को खलेगी फेरान व बोमस की कमी 
पिछले सत्र का लीग चरण जीतकर एएफसी चैंपियंस लीग के लिए क्वालिफाई करने वाली पहली भारतीय टीम बने एफसी गोवा को अपने स्टार फॉरवर्ड फेरान कोरोमिनास और ह्यूगो बोमस के जाने से नुकसान हुआ है। ये दोनों पिछले कुछ वर्षों में आईएसएल में सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ियों की सूची में शामिल रहे हैं। 

छेत्री और संधू की बंगलूरू भी दावेदार 
शीर्ष भारतीय और जांच परखे विदेशी खिलाड़ियों की मौजूदगी में कालर्स कुआड्रेट के मार्गदर्शन में खेलने वाली पूर्व चैंपियन बंगलूरू एफसी की टीम भी खिताब के दावेदारों में शामिल है। कुआड्रेट 2018-19 में खिताब जीतने वाली टीम के कई खिलाड़ियों को टीम से जोड़े रखने में सफल रहे हैं। टीम में दो बार के गोल्डन ग्लव विजेता गुरप्रीत सिंह संधू और आईएसएल के शीर्ष भारतीय स्कोरर सुनील छेत्री के अलावा डिफेंडर युआनन और मिडफील्डर एरिक पार्तालु और दिमास डेलगाड जैसे खिलाड़ी शामिल हैं।

मुंबई भी कम नहीं 
मुंबई सिटी एफसी की निगाह भी कम से कम प्लेऑफ में जगह बनाने पर होगी। टीम को मुख्य कोच सर्जियो लोबेरा की मौजूदगी का फायदा मिलेगा जो एफसी गोवा को छोड़कर टीम से जुड़े हैं। लोबेरा की अगुवाई में गोवा ने 2018-19 सत्र के फाइनल में जगह बनाई थी। लिवरपूल के दिग्गज रॉबी फाउलर के मार्गदर्शन में खेलने जा रही नई टीम स्पोर्टिंग क्लब ईस्ट बंगाल और दो बार के चैंपियन चेन्नईयन एफसी से भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है। 

 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5