Donald Trump Challenge To Election Results Hits Hardest At Black Voters – ट्रंप ने फिर चुनावी नतीजे पर उठाए सवाल, अश्वेत मतदाताओं पर फोड़ा हार का ठीकरा

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वाशिंगटन
Updated Sat, 21 Nov 2020 07:22 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अभी भी व्हाइट हाउस की बाट जोह रहे हैं। राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव के नतीजे आने के बाद भी उन्हें किसी चमत्कार के होने की उम्मीद है। हालांकि, अब यह मुश्किल है, लेकिन ट्रंप मानने को तैयार नहीं। चुनावी नतीजों में अश्वेत मतदाताओं के मतदान ने काफी अहम भूमिका निभाई है। ऐसे में ट्रंप ने अब इन्हीं अश्वेत मतदाताओं पर अपनी हार का ठीकरा फोड़ा है।

ट्रंप का कहना है कि नतीजे पलटने की वजह फिलेडेल्फिया, डेट्रायट और अन्य डेमोक्रेट्स शहरों में डाले गए मतपत्रों को अमान्य करने से संबंधित है। बता दें कि अमेरिका के लगभग हर राज्य से चुनावी नतीजे आने के बाद ट्रंप के प्रचार अभियान से जुड़े लोग केवल उन स्थानों को टारगेट कर रहे हैं, जहां धोखाधड़ी होने की सबसे अधिक संभावना है। 

राष्ट्रपति के सत्ता में बने रहने और नस्लीय भेदभाव वाली टिप्पणियों को लेकर भी काफी आलोचना हो रही है। ट्रंप के वकीलों ने अदालत में व्यापक धोखाधड़ी के कोई सबूत पेश नहीं किए हैं। उन्हें कानूनी चुनौतियों के मद्देनजर अब तक इस मामले में बहुत कम सफलता मिली है।

वहीं, ट्रंप अभियान की एक वरिष्ठ सलाहकार कैटरीना पियर्सन ने बचाव में कहा है कि इसका उद्देश्य चुनाव की अखंडता का बचाव करके, अश्वेत मतदाताओं सहित हर कानूनी मतदाता के वोट की रक्षा करना है। उन्होंने कहा कि सबसे अधिक अनियमितताएं सबसे अधिक आबादी वाले और बहुसंख्यक डेमोक्रेट क्षेत्रों में हुई है।

उन्होंने कहा कि ट्रंप को रिपब्लिकन पार्टी के आधुनिक इतिहास में किसी भी उम्मीदवार की तुलना में अश्वेत समुदाय से कुल वोटों में अधिक समर्थन मिला। पियर्सन ने कहा, डेमोक्रेट्स ने दशकों से अपने स्वयं के राजनीतिक लाभ के लिए अश्वेत मतदाताओं के वोट का उपयोग और दुरुपयोग किया है और उनके इस व्यवहार से साबित होता है कि कुछ भी नहीं बदला है।

गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रंप कैंपेन के लोग प्रमुख राज्यों में आए नतीजों को बदलवाने की कोशिश कर रहे हैं और इसी वजह से शुक्रवार को ट्रंप ने मिशिगन के रिपब्लिकन सांसदों से मुलाकात की थी। ट्रंप ने व्हाइट हाउस में सीनेट के नेता माइक शिर्के और हाउस स्पीकर ली चैटफील्ड से मुलाकात की, जिन्होंने कहा कि उनके पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है जो मिशिगन के चुनावी नतीजे को बदल देगी।

जॉर्जिया में भी ट्रंप को झटका लगा है। यह भी अब औपचारिक रूप से अपना परिणाम घोषित करने वाला स्टेट बन गया है। मिशिगन के फैसले को लेकर ट्रंप के बयान के बाद सीनेटर मिट रोमनी समेत कई रिपब्लिकन नेताओं ने उनकी खूब आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि यह कल्पना भी नहीं की जा सकती है कि किसी निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति ने सत्ता में बने रहने के लिए ऐसे अलोकतांत्रिक काम किए हों।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अभी भी व्हाइट हाउस की बाट जोह रहे हैं। राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव के नतीजे आने के बाद भी उन्हें किसी चमत्कार के होने की उम्मीद है। हालांकि, अब यह मुश्किल है, लेकिन ट्रंप मानने को तैयार नहीं। चुनावी नतीजों में अश्वेत मतदाताओं के मतदान ने काफी अहम भूमिका निभाई है। ऐसे में ट्रंप ने अब इन्हीं अश्वेत मतदाताओं पर अपनी हार का ठीकरा फोड़ा है।

ट्रंप का कहना है कि नतीजे पलटने की वजह फिलेडेल्फिया, डेट्रायट और अन्य डेमोक्रेट्स शहरों में डाले गए मतपत्रों को अमान्य करने से संबंधित है। बता दें कि अमेरिका के लगभग हर राज्य से चुनावी नतीजे आने के बाद ट्रंप के प्रचार अभियान से जुड़े लोग केवल उन स्थानों को टारगेट कर रहे हैं, जहां धोखाधड़ी होने की सबसे अधिक संभावना है। 

राष्ट्रपति के सत्ता में बने रहने और नस्लीय भेदभाव वाली टिप्पणियों को लेकर भी काफी आलोचना हो रही है। ट्रंप के वकीलों ने अदालत में व्यापक धोखाधड़ी के कोई सबूत पेश नहीं किए हैं। उन्हें कानूनी चुनौतियों के मद्देनजर अब तक इस मामले में बहुत कम सफलता मिली है।

वहीं, ट्रंप अभियान की एक वरिष्ठ सलाहकार कैटरीना पियर्सन ने बचाव में कहा है कि इसका उद्देश्य चुनाव की अखंडता का बचाव करके, अश्वेत मतदाताओं सहित हर कानूनी मतदाता के वोट की रक्षा करना है। उन्होंने कहा कि सबसे अधिक अनियमितताएं सबसे अधिक आबादी वाले और बहुसंख्यक डेमोक्रेट क्षेत्रों में हुई है।

उन्होंने कहा कि ट्रंप को रिपब्लिकन पार्टी के आधुनिक इतिहास में किसी भी उम्मीदवार की तुलना में अश्वेत समुदाय से कुल वोटों में अधिक समर्थन मिला। पियर्सन ने कहा, डेमोक्रेट्स ने दशकों से अपने स्वयं के राजनीतिक लाभ के लिए अश्वेत मतदाताओं के वोट का उपयोग और दुरुपयोग किया है और उनके इस व्यवहार से साबित होता है कि कुछ भी नहीं बदला है।

गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रंप कैंपेन के लोग प्रमुख राज्यों में आए नतीजों को बदलवाने की कोशिश कर रहे हैं और इसी वजह से शुक्रवार को ट्रंप ने मिशिगन के रिपब्लिकन सांसदों से मुलाकात की थी। ट्रंप ने व्हाइट हाउस में सीनेट के नेता माइक शिर्के और हाउस स्पीकर ली चैटफील्ड से मुलाकात की, जिन्होंने कहा कि उनके पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है जो मिशिगन के चुनावी नतीजे को बदल देगी।

जॉर्जिया में भी ट्रंप को झटका लगा है। यह भी अब औपचारिक रूप से अपना परिणाम घोषित करने वाला स्टेट बन गया है। मिशिगन के फैसले को लेकर ट्रंप के बयान के बाद सीनेटर मिट रोमनी समेत कई रिपब्लिकन नेताओं ने उनकी खूब आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि यह कल्पना भी नहीं की जा सकती है कि किसी निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति ने सत्ता में बने रहने के लिए ऐसे अलोकतांत्रिक काम किए हों।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5 Difference Between Apple Watch 4 And 5